आज मैं उदास हूं

तुम्हारी वजह से उदास हूं
या तुम्हारे लिए उदास हूं

पता नहीं पर हां आज मैं उदास हूं
आंखों में नमी भी है और
दिल में गमी भी है
मन मेरा अशांत भी है
सब कुछ बहुत शांत भी है
पर हां आज मैं उदास हूं
तुम्हारी बातों से उदास हूं या
तुम्हारे वादों से उदास हूं पता नहीं
पर हां आज मैं उदास हूं
तुम्हारे इंतजार से उदास हूं या
तुम्हारे ऐतबार से उदास हूं
राहों में बिक्री तुम्हारी यादों से उदास हूं 

पर हां आज मैं उदास हूं
सोचती रही हर वक्त यही
आखिर क्यों कुछ ही वक्त में तुझसे मोहब्बत हो गई

सोचती रही हर वक्त यही आखिर क्यों

 तेरी बातों से इतनी चाहत हो गई

दिल से भी आवाज आती रही कि जब उसे तेरी परवाह नहीं 

तो फिर क्यों तू उदास है पर हां आज मैं उदास हूं

सच में आज मैं उदास हूं कुछ ज्यादा ही उदास हूं
तेरी यादों तेरी बातों
कुछ पल की मिली तेरी मोहब्बत
और अपने दिल के हाथों मजबूर
हां मैं उदास हूं???